CTET Child Development & Education Practice Set 04: परीक्षा से पहले अवश्य अध्ययन करें, इस महत्वपूर्ण प्रश्नों का

CTET Child Development & Education Practice Set 04:सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया जल्द शुरू होगी. संभावना जताई जा रही है कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) जल्द ही परीक्षा के लिए डिटेल्ड नोटिफिकेशन जारी कर सकता है. सीबीएसई सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) परीक्षा देश भर के परीक्षा केंद्रों पर 20 भाषाओं में आयोजित की जाएगी. यह एग्जाम दिसंबर, 2022 में होगा.

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा एक नेशनल लेवल का एट्रेंस एग्जाम है. सीटीईटी परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है. इस परीक्षा के तहत 2 पेपर होते हैं. पेपर I कक्षा 1 से कक्षा 5 तक और पेपर II कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के शिक्षक पदों पर भर्ती के लिए होता है. जबकि, कक्षा 1 से 8 तक शिक्षक पदों पर भर्ती के लिए दोनों पेपर देना अनिवार्य है. CTET Child Development & Educationप्रैक्टिस सेट 3 की मदद से आप अपनी तैयारी को और बेहतर बना सकते हैं, एवं अपनी तैयारी का आकलन भी कर सकते हैं.

इसके साथ ही आप अतिरिक्त प्रैक्टिस से CTET Child Development & Education का अध्ययन भी कर सकते हैं.

CTET Child Development & Education Practice Set 04
CTET Child Development & Education Practice Set 04

CTET बाल विकास एवं शिक्षण प्रैक्टिस सेट 04

प्रश्न. प्राचीन काल में जिस दिन पठन-पाठन बन्द रहता था उसे क्या कहा जाता था?

  • रविवार
  • अनाध्याय
  • अध्याय
  • समें से कोई नहीं

उत्तर: 2

प्रश्न. शिक्षा का राष्ट्र के प्रति शामिल कार्यों में निम्न में से कौन-सा नहीं है?

  • राष्ट्रीय विकास
  • राष्ट्रीय एकता
  • राष्ट्रीय अनुसंधान
  • राष्ट्रीय प्रशिक्षण

उत्तर: 4

प्रश्न. समूह “राष्ट्रीय एकता की देश को हर समय जरूरत है, किन्तु भारत के लिए इसकी कहीं अधिक किस विद्वान ने युवाओं की शिक्षा में पर्यटन को विशेष महत्त्व दिया था?

  • जॉन ब्राउन ने
  • जॉन गिल्टन ने
  • जॉन मिल्टन ने
  • जॉन एडवर्ड ने

उत्तर: 3

प्रश्न. राष्ट्र क्या है?

  • समिति
  • संस्था
  • समुदाय
  • समूह

उत्तर: 3

प्रश्न. राष्ट्रीय एकता समिति ने राष्ट्रीय एकता को प्रबल बनाने के लिए सुझाय-पत्र तैयार किया था?

  • 1961 में
  • 1964 में
  • 1966 में
  • 1970 में

उत्तर: 1

प्रश्न. राष्ट्रीय एकता की बाधाएँ हैं—

  • अनेक जातियाँ
  • अनेक धर्म
  • अनेक भाषाएँ
  • उपर्युक्त सभी

उत्तर: 4

प्रश्न. राष्ट्रीय एकता में बाधक तत्त्व है?

  • क्षेत्रीयता
  • उदारता
  • बन्धुत्व
  • समाजीकरण

उत्तर: 1

प्रश्न. राजभाषा अधिनियम कब बना?

  • 1962 में
  • 1963 में
  • 1964 में
  • 1965 में

उत्तर: 2

प्रश्न. राष्ट्रीय एकीकरण के विकास में प्रमुख योगदान रहता है—

  • साक्षरता का
  • शिक्षक का
  • शिक्षण विधियों का
  • शिक्षा का

उत्तर: 2

प्रश्न. राष्ट्रीय एकता समिति का सुझाव था?

  • साम्प्रदायिकता की समाप्ति
  • दलगत राजनीति को बढ़ावा
  • बीमा योजना लागू करना
  • निरक्षरता की समाप्ति

उत्तर: 1

प्रश्न. राष्ट्रीय एकीकरण की आवश्यकता है?

  • विभिन्नता में एकता लाने के लिए
  • सांस्कृतिक ठहराव के लिए
  • भारत को प्राचीन जैसा देखने के लिए
  • उपर्युक्त सभी

उत्तर: 1

प्रश्न. “राष्ट्रीयता में देश प्रेम से कई गुना अधिक देशभक्ति की मात्रा होती है।” यह कथन किस विद्वान का है?

  • यूवेकर का
  • बटलर का
  • गाँधीजी का
  • गिलिन एण्ड गिलिन कर

उत्तर: 1

प्रश्न. “यदि हम मुश्किल से प्राप्त अपनी स्वतन्त्रता की सुरक्षा एवं समृद्धि चाहते हैं तो हमें राष्ट्रीय एकता की प्रक्रिया को जारी रखना और शक्तिशाली बनाना पड़ेगा।” यह किसने कहा?

  • पं0 नेहरू ने
  • महात्मा गाँधी ने
  • के0 एल0 श्रीमाली ने
  • उपर्युक्त सभी

उत्तर: 1

प्रश्न. राष्ट्रीय एकता का अर्थ है?

  • सभी भारतीयों को एक जैसा बनाना
  • भारतीयों में सांस्कृतिक विभिन्नताओं को स्वीकार करना सभी विद्यालयी बच्चों में आपस में प्रेम
  • सभी के साथ भोजन करना

उत्तर: 2

प्रश्न. शिक्षा के उद्देश्य हैं?

  • जीविकोपार्जन
  • चरित्र निर्माण
  • शारीरिक विकास
  • उपर्युक्त सभी

उत्तर: ?

इस प्रश्न का सही उत्तर कमेंट सेक्सन में जरूर बताएं.

Leave a Comment